बिल गेट्स जीवनी| Bill Gates Biography In Hindi| बिल गेट्स के Success होने के कारण।

बिल गेट्स जीवनी| Bill Gates Biography In Hindi| बिल गेट्स के Success होने के कारण।

Bill Gates Biography Hindi:- जब तक आप जीत नहीं जाते तब तक किसी को आपके कहानी में INTEREST नहीं होगा तो पहले दुनिया को जितके दिखाओ। मेरे कहने का मतलब है की पूरी दनिया में दूसरे नम्बर के अमीर व्यक्ति Bill Gates.जो कि एक साधारण लड़का था उनका नाम दुनिया के अमीर व्यक्तियो में आता है। दोस्तों में आज सब कुछ Bill Gates के बारे में बताऊगा। आप शुरु से लास्ट तक जरूर पढ़े।Bill Gates Biography Hindi.

Bill Gates Hindi Biography| बिल गेट्स की प्रेरणादायक जीवनी

दोस्तो यह तो सब ही जानते होंगे कि Bill Gates आज दुनिया के सबसे अमीर आदमीयो में से है और बिल गेट्स एक बहुत ही बड़ी कंपनी Mecrosoft के संस्थापक और मालिक है जिसका टर्नओवर लाखो करोड़ों का है और दुनिया की सबसे बेस्ट Software Company है। दोस्तो बिल गेट्स के पास $112 बिलियन यूएस डॉलर है यानिकि 83,98,32,00,00,000 इंडियन रुपये है। गिल गेट्स 1 मिनट में 15,00,000 रुपए कमा लेते है। सिर्फ यही नही बिल गेट्स जब तक जिंदा है तब तक ये ही गिल गेट्स की कमाई रहेगी 1 मिनट 15 लाख और इससे जादा ही रहे गई

Bill Gates का जन्म 28 अक्टूबर, 1955 को वाशिंगटन के सिएटल में हुआ। बिल गेट्स का पूरा नाम और वास्तविक नाम विलियम हेनरी गेट्स William Henry Gates है। बिल गेट्स का पूरा नाम बहुत ही कम लोग जानते है इनके पिता जी का नाम विलियम एच गेट्स था जो कि एक बहुत ही प्रसिद्ध वकील थे। बिल गेट्स के घर मे कुल 5 सदस्य थे जिनमें इनकी माँ मैरी मैक्सवेल गेट्स और 2 बहने क्रिस्टी और लिब्बी शामिल है।

Bill Gates Education| बिल गेट्स की स्कूल शिक्षा

जब बिल गेट्स बड़े हुए तो उनके माता पिता ने उनका दाखिला लेकसाइड स्कूल में करा दिया जोकि उस समय का सबसे अच्छा स्कूल था बिल गेट्स उस स्कूल में पढ़ाई और लिखाई में बहुत ही इंटेलीजेंट बच्चा साबित हुए बिल गेट्स में बचपन से ही पढ़ने की अलग ही भूख थी।

Bill Gates बचपन से ही पढ़ने में काफी होशियार बालक थे। बिल गेट्स में काफी पढ़ने में दिलचस्पी थी वे घंटो घर मे अकेले पढ़ा करते थे।

बिल गेट्स शुरू आत में सभी विषय मे अच्छे थे लेकिन गणित और विज्ञान में उन्होंने महारथ हासिल की थी इसके अलावा बिल गेट्स स्कूल के अन्य एक्टिविटी में भी भाग लेते थे। वही पर बिल गेट्स के स्कूल में बच्चों को जब कंप्यूटर चलाना सिखाया जा रहा था तभी से बिल गेट्स की दिलचस्पी कंप्यूटर की तरफ बढ़ने लगी और वे अपना ज्यादा समय कप्यूटर के साथ ही व्यतीत करने लगे।

बिल गेट्स के माता पिता उनका कैरियर कानून में बनवाना चाहते थे लेकिन उनका इंटरेस्ट प्रोग्रामिंग लैग्वेज और सॉफ्टवेयर्स में था बिल गेट्स की प्रारंभिक विद्यालय का नाम लेकसाइड स्कूल था जहाँ से उन्होंने अपनी स्कॉलिंग पूरी की जब बिल गेट्स आठ वीं कक्षा में थे तब बिल गेट्स ऐऐसआर- 33 दूरटंकण टर्मिनल तथा जनरल इलेक्ट्रिक कप्यूटर पर एक प्रोग्राम खरीदा।

बिल गेट्स जब 13 वर्ष के थे तब उन्होंने अपना पहला कम्यूटर प्रोग्राम बनाया जिसको बे टिक टैक टो कहते थे और इसका इस्तेमाल बे खेलने में करते थे इस मशीन से ही उन्होंने प्रोग्रामिंग जगत में अपनी इंटरेस्ट को और मजबूत बनाया। और इसके बाद लगातार बिल गेट्स अपने स्कूल के कंप्यूटर पर कुछ नया करने एवं प्रोग्रामिंग बनाने की जुग में रहते थे जब बिल गेट्स हाईस्कूल में पहुचे तब उन्होंने स्कूल के पेरोल प्रणाली को कम्पूटरीकृत कर दिया था।

जब बिल गेट्स की मुलाकात पॉल एलन से हुई जो कि बिल गेट्स से सीनियर थे पॉल की कंप्यूटर में दिलचस्पी की वजह से दोनों एक दूसरे के बहुत अच्छे दोस्त बन गये और फिर बिल गेट्स और पॉल एलन दोनो स्कूल की लैब में साथ साथ टाइम गुजारते रहे और अपने स्कूल के कंप्यूटर कंपनी के सॉफ्टवेयर के सीखने के मकसत से छेड़खानी करते रहते थे इसके बाद इनदोनो ने मिल कर ccc के सॉफ्टवेयर में हो रही खामियों को दूर कर लोगो को अपनी ओर आकर्षित किया तथा इनके बाद 1970 तक बे कार्यालय में रोजाना जाकर बहुत सी प्रोग्रामो के लिए सोर्स कोड का अध्ययन करते रहे।

बिल गेट्स अपना ज्यादातर समय कंप्यूटर में ही लगे रहते थे फिर इसके बाद उन्होंने अपना कॉलेज छोड़ दिया और अपने एलन दोस्त के साथ बिजनेस करने का फैसला लिया।

बिल गेट्स और उनके दोस्त ने Micro Inatrumentation and Telemetry System के साथ मिलकर कार्य करने की सूची और उन्होंने अपनी इस जोड़ी को नया नाम दिया Micro Soft और अपना पहला ऑफिस अल्बुकर्क में खोला। 26 नवम्बर 1976 के दिन माइक्रोसॉफ्ट कंपनी अधिकारिक तौर पर पंजीकृत हुई।

धीरे-धीरे नतीजा यह पहुंचा कि साधारण कंप्यूटर चलाने वालों में माइक्रोसॉफ्ट कंपनी सबसे प्रिय बन गई सन 1976 ईस्वी में MTIS और गेट की पार्टनरशिप खत्म हो गई इसके बाद माइक्रोसॉफ्ट पूर्ण रुप से स्वतंत्र हो गई इसके बाद प्रसिद्ध कंपनी IBM ने माइक्रोसॉफ़्ट के साथ काम करने में चाहा उन्होंने माइक्रोसॉफ्ट से अपने पर्सनल कंप्यूटर के लिए बेसिक इंटरप्रेटर बनाने को कहा और माइक्रोसॉफ्ट ने कुछ समय उनके साथ कार्य किय

बिल गेस्ट ने 10 नवंबर 1983 में माइक्रोसॉफ्ट विंडो को लॉन्च किया और फिर इसके 2 साल बाद 1985 में अपना पहला माइक्रोसॉफ्ट विंडोज ऑपरेटिंग सिस्टम लॉन्च किया इसके बाद कुछ ही सालों में दुनिया के सभी पर्सनल कंप्यूटर ने उनके इस ऑपरेटिंग सिस्टम विंडोज ने अपना कब्जा जमा लिया

फिर इसके बाद माइक्रोसॉफ्ट ने अपने विंडोज ऑपरेटिंग सिस्टम के चलते सफलता की नई ऊंचाइयों को छुआ दरअसल पर्सनल कंप्यूटर के करीब 90 फ़ीसदी शेयर विंडोज के नाम हो गए और वही उस दौरान माइक्रोसॉफ्ट कंपनी के सबसे बड़े शेयर होल्डर बिल गेट्स थे जिनके चलते बिल गेट्स को काफी फायदा हुआ और 1987 में करीब 32 साल की उम्र में वे दुनिया के सबसे अमीर व्यक्ति बन गया और फिर लगातार 11 साल में दुनिया के सबसे अमीर आदमी बने रहे।

और उसके बाद वे अपनी प्रतिभा और विवेकशीलता से लगातार सफलता के नई ऊचाई को छू रहे थे बिल गेस्ट ने साल 1989 में माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस की शुरुआत की यह एक गिफ्ट की तरह था इस माइक्रोसॉफ्ट वर्ड, माइक्रोसॉफ्ट एक्सेल समेत कई सॉफ्टवेयर एक साथ ही सिस्टम में चलाए जा सकते थे।

इसके बाद इसके चलते माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस ने पूरी दुनिया के सभी पर्सनल कंप्यूटर पर एकाधिकार कर नई कामयाबियों को हासिल किया 1990 के दशक में जब इंटरनेट का इस्तेमाल बहुत तेजी से पढ़ रहा था उस समय बिल गेट्स भी इंटरनेट द्वारा सॉफ्टवेयर को उपलब्ध करवाने पर बिल गेट्स अपना पूरा फोकस कर रहे थे।

दोस्तों मैं आपको बता दूं कि विंडोज Ce ऑपरेटिंग सिस्टम प्लेटफॉर्म एवं दी माइक्रोसॉफ्ट नेटवर्क उस दौर के सबसे महान डेवलपमेंट में से एक थे अपनी प्रोग्रामिंग और कंप्यूटर प्रतिभा का लोहा पूरी दुनिया में मान चुके थे बिल गेट्स ने साल 2000 में माइक्रोसॉफ्ट के सीईओ पद से रिजाइन कर दिया एवं चेयरमैन बन गए एवं अपने लिए उन्होंने चीफ सॉफ्टवेयर आर्किटेक्ट का नया पद बनाया था।

फिर कुछ सालों तक इस पद पर काम करने के बाद साल 2014 में उन्होंने चेयरमैन पद से भी रिजाइन कर दिया और माइक्रोसॉफ्ट के सीईओ के एडवाइजर के रूम में काम करने लगे फिर उन्होंने खुद को पूरी तरह गरीब बना लिया जरूरतमंदों और असहायो की मदद करने एवं समाज कल्याण के काम में समर्पित कर दिया वे अपनी करुणा महानता और दरियादिली के लिए जाने लगे है।

Bill Gates Life Story And Marriage In Hindi

बिल गेट्स की माइक्रोसॉफ्ट कंपनी में मेलिंडा फ्रेंच की नाम की एक लड़की काम करती थी जो कि उन्हें बहुत पसंद थी फिर वो दोनों एक दूसरे के बहुत करीब आने लगे थे एवं उन दोनों का प्यार परवान चढ़ा हालांकि मेनका उनसे उम्र में काफी बड़ी थी फिर इसके बाद उन्होंने 1994 में दोनों ने शादी कर ली थी।

बिल गेट्स की एक बड़ी बेटी है जिसका नाम जेनिफर कैथराइन गेट्स है इसके अलावा उनके दो और संतान हैं जिनके नाम रोरी जॉन गेट्स तथा अदेले कैथेराइन गेट्स है बिल गेट्स का वर्तमान घर वाशिंगटन स्थित मेडिना में है जो कि दुनिया के सबसे महंगे घरों में शामिल है।

दोस्तों आपके लिए Bill Gates Biography Hindi कंटेंट लिखा है जिसमें Bill Gates की पूरी Information है जो कि आप पहले से इनके के बारे में ज्यादा नहीं जानते होंगे तो मैंने इसलिए आपके लिए Bill Gates Biography Hindi लिखा पूरी जानकारी के साथ मुझे आशा है की आपको यह पोस्ट काफी अच्छी लगेगी और कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं।


Recommended For You

Review & Discussion

Comment

Please read our comment policy before submitting your comment. Your email address will not be used or publish anywhere. You will only receive comment notifications if you opt to subscribe below.